प्रजा अधीन राजा समूह | Right to Recall Group

अधिकार जैसे कि आम जन द्वारा भ्रष्ट को बदलने/सज़ा देने के अधिकार पर चर्चा करने के लिए मंच
It is currently Mon Apr 23, 2018 3:17 pm

All times are UTC + 5:30 hours




Post new topic Reply to topic  [ 1 post ] 
SR. No. Author Message
1
PostPosted: Sat Jun 18, 2011 1:24 pm 
Offline

Joined: Wed Nov 17, 2010 5:13 am
Posts: 17
रिश्वत लेने के लिए हजार लिए अप्रत्यक्ष तरीके जिसमे भ्रष्ट सरकारी अधिकारी पैसे को छुता भी नहीं हे और रिश्वत वाइट में लेता हे

रिश्वत लेने के लिए हजार लिए अप्रत्यक्ष तरीके जिसमे भ्रष्ट सरकारी अधिकारी पैसे को छुता भी नहीं हे और रिश्वत वाइट में लेता हे

स्वामी रामदेव जी सरकार को बड़ी नोट्स वापस लेने के लिए दबाव दे रहे हे जिससे भ्रष्टाचार रोका जा सके.

हम भी बड़ी नोट्स वापस लेने के पक्ष में हे जब तक कोई वापस ना लेने का कोई अच्छा कारण दे. क्यू की उ़ससे नकली करेंन्सी नोट बंध हो जायेगी और आतंकवाद को बढ़ावा मिलना कम हो जायेगा. लेकिन हमें किसी भी नजरिये से ये नहीं लगता की उससे भ्रष्टाचार कम होगा.

क्योंकि काफी ऐसे तरीके उपलब्ध हे जिसमे पैसे को या बड़ी नोट्स को छुए बिना भ्रष्टाचार होता हे. हम आप सबसे अनुरोध करते हे की कृपया आप निचे दिए गए तरीको को समजिये.

(१) ९९% भ्रष्टाचार से कमाए गए पैसे भ्रष्ट सरकारी अधिकारी तथा राजनेता जमीन, मकान, सोना, ज़वेरात, हीरे, चांदी, ट्रस्टों, गैर सरकारी संगठन में रखते हे.

(२) छोटे स्टर पे भ्रष्ट अधिकारी (५%) आपसे सोने, चांदी, विदेशी मुद्रा में घूस मांग सकते हे जेसे की

- २० लाख रूपये की घूस के लिए १ किलो सोना या ४५,००० अमेरिकी डॉलर मांगेगे.

- १ लाख रूपये की घूस के लिए ५० ग्राम सोने का सिक्का या २२५० अमेरिकी डॉलर मांगेगे.

- ५० हजार रूपये की घूस के लिए २५ ग्राम सोने का सिक्का, १ किलो चांदी या १२०० अमेरिकी डॉलर मांगेगे.

- ५० हजार से कम किंमत की घूस वो भारत की मुद्रा में ही मांग सकते हे.

- अगर आपने छोटी करेंन्सी नोट भारत की मुद्रा में ही घूस दी तो वो उसी दिन उसको बडी आसानी से सोने में, चांदी में, विदेशी मुद्रा रूपांतरित कर देंगे जो बड़ा आसान काम हे. अगर ये सोने, चांदी या विदेशी मुद्रा के रूपांतर मे कुछ समज नहीं आ रहा हे तो कृपया आपने सुनार से संपर्क कीजिये

- छोटे स्टर पे कुछ भ्रष्ट अधिकारी मिलकर अपना एक एजेंट या प्रतिनिधि रखेंगे जो हररोज घूस में लिए गए पेसो को सोने, चांदी, विदेशी मुद्रा रूपांतरित कर देगा

(३) बड़े स्तर पे भ्रष्टाचार करने के लिए भ्रष्ट राजनेता या न्यायाधीश तो वैसे भी बडी करेंन्सी नोट हाथ नहीं लगते और कुल भ्रष्टाचार में उनकी तादात ९५% हे.

(३.१) बड़े स्तर पे भ्रष्टाचार घूस लेने की लिए वैसे ही भ्रष्ट राजनेता या न्यायाधीश अपने विदेशी बैंक अकाउंट उपयोग करते हे.

- अगर आपको कोई मिनिस्टर को १०० करोड रूपये की घूस देनी हो तो १००० रूपये की नोट का इस्तमाल करके १०० करोड रूपये की घूस में १०,००० बंडल होगे

- अगर आपको कोई मिनिस्टर को ५०० करोड रूपये की घूस देनी हो तो १००० रूपये की नोट का इस्तमाल करके १०० करोड रूपये की घूस में ५०,००० बंडल होगे

- १०,००० या ५०,००० के बंडल को ठिकाने लगाना काफी मुश्किल काम हे इसीलिए अगर कोई मिनिस्टर को १०० करोड रूपये की घूस देनी हो तो वो अपने स्विस या मोरिसियस बैंक का अकाउंट नंबर दे देगा फिर आप उसके बैंक अकाउंट में बडी आसानी से ओन-लाईन इंटरनेट के माध्यम से पैसे ट्रान्सफर कर सकते हे

कृपया आप नीचेकी लिंक देखिये जो टाइमस ऑफ इंडिया से हे. जिसमे कहा गया हे की राजा ने २जी स्पेक्ट्रम के गोताले में अपने मोरीसीयस बैंक अकाउंट का इस्तामल किया था. अगल गोलाते के लिए राजा अपने मोरीसीयस बैंक अकाउंट का इस्तामल कर शकता हे तो सोनिया गाँधी भी कर शक्ति हे, मनमोहन सिंग भी कर सकता हे कोई भी कर शकता हे.

- 2G scam: ‘Raja used wife’s a/c to stash bribe money abroad’

http://www.topix.com/forum/world/isle-o ... NTF4RQEFK1

- ‘Raja used wife’s a/c to stash bribe money in Mauritius and Seychelles’

http://articles.timesofindia.indiatimes ... ribe-money

(३.२) भ्रष्ट राजनेता या न्यायाधीश को अगर भारत में ही घूस भारतीय मुद्रा में चाहिए तो उसके पास उसकी पत्नी, बच्चे, भतीजे या खुदके नाम पर काफी ट्रस्टों, गैर सरकारी संगठन होंगे. और वो लोग उसी ट्रस्टों, गैर सरकारी संगठन में ट्रस्टी होंगे. आप उसके ट्रस्टों, गैर सरकारी संगठन में बैंक चेक से वाईट में घूस दे सकते हो.

भारत में सारे ट्रस्टों, गैर सरकारी संगठन को इनकम टेक्स में से राहत मिलती हे और दान देने वाले को भी टेक्स में से राहत मिलती हे. इस नजरिये से आप देखे तो आपको घूस देने पर इनकम टेक्स में से राहत मिलेगी और उन भ्रष्ट राजनेता या न्यायाधीश को भी.

भारत में कोन सा राजनेता या न्यायाधीश या उसके सगे-सम्बन्धी कोन से ट्रस्टों, गैर सरकारी संगठन में ट्रस्टी हे उनका कोई व्यवस्थित डेटाबेस, यादी या शुचि भ्रष्ट राजनेता या न्यायाधीश ने मिलकर आज तक तैयार नहीं होने दी हे.

(४) जमीन अधिग्रहण में भ्रष्टाचार – जभी भी सरकार बडी मात्रा में जमीन लेने वाली होती हे तो कोई बड़ा व्यवसायी/व्यापारी भूमि अधिग्रहण अधिकारी को १ लाख रूपये हर सर्वे नंबर के हिसाब से घूस देता हे यह जानने के लिए की कोन्सी भूमि/जमीन सरकार लेने वाली हे. एक बार व्यवसायी/व्यापारी को सर्वे नंबर मिल जाता हे तो वो गरीब किसानो से १५ से २० लाख रूपये हर एकर के हिसाब से सारी जमीन खरीद लेता हे या काम दम पे अपने नाम पर करा देता हे जिससे स्टेम्प ड्यूटी बच जाये. बादमे वोही व्यवसायी/व्यापारी करोडो रूपये में सरकार से वोही जमीन का सोदा करता हे.

(५) आप सुप्रीम कोर्ट के जजों या न्यायाधीश का अध्यन कर सकते हो. वो कभी भी पैसे का नाम नहीं लेते. वो बडे चतुर तरीके से कोई भी वकील का नाम देगा जो उसका दोस्त या रिश्तेदार हे और फिर वोही वकील वार्तालाप करेगा. आपको घूस भी बैंक चेक से वकील को ही ही देनी हे तो पकडे जाने का कोई डर ही नहीं हे. जेसे ही आपने दोस्त या रिश्तेदार वकील को चेक दे दिया दूसरे दिन कोर्ट का फेसला आपके पक्ष में आ जाता हे.

(६) ५०० या १००० के बडे नोट बंध होने के बाद जिसके पास वो नोट बचेंगे वो उसकी कालाबाजारी कर शकते हे और फिर यही नोट सिर्फ सोने, चांदी या विदेशी मुद्रा के स्थान पर लेन – देन (transaction) करने के लिए काम आएंगे

(७) नरेन्द्र मोदी कुछ भ्रष्टाचार के केस में सामिल हे जिसमे उसने टाटा मोटर को बडी सस्ती किंमत पर अमदावाद में जमीन दे दी और न्यायाधीश ने केस को रफे-दफे कर दिया.

- उसके बदले में न्यायाधीश के भाई-भतीजे को पदोन्नति (promotion) मिलेगा और फिर वो उसे पद का उपयोग करके घूस ले सकेंगे.

- टाटा मोटर उसके बदलेमें कांग्रेस से केहकर नरेन्द्र मोदी के खिलाफ जो केस चल रहे हे वो कमजोर कर देगी |

- टाटा मोटर या टाटा ग्रुप यह सब फेवर के बदलेमे कुछ ट्रस्टों, गैर सरकारी संगठन (एन.जि.ओ) में दान देगा जो नरेन्द्र मोदी, न्यायाधीश तथा कांग्रेस के हे और टाटा मोटर या टाटा ग्रुप यह दान देने पर इनकम टेक्स में से राहत मिलेगी और उन भ्रष्ट राजनेता या न्यायाधीश को भी.

(८) आजकल और एक तरीका निकला हे जिसमे परामर्श शुल्क (consulting fee) के नाम पर भाई-भतीजे को घूस दी जा सकती हे.

सरकारी बैंक लोन के भ्रष्टाचार में बैंक के डीरेकटर के भाई-भतीजे वकील या परामर्श के नाम पर भाड़ा या किराया लिया जाता हे. जब बैंक लोन दे देता हे तो डीरेकटर के भाई-भतीजे को परामर्श के नाम पर भाड़ा या किराया मिल जाता हे. चीदम्बरण की पत्नी ऐसे काफी कंपनी में सामिल हे जो परामर्श देने का काम करती हे. ऐसे केस में आप केसे साबित करोगे की घूस दी गयी थी की परामर्श शुल्क (consulting fee) ?

(९) पुलिस तथा न्यायाधीश का गठजोड़ पैसे को हाथ लगाये बिना काम करता हे. न्यायाधीश के भाई-भतीजे वकील को जभी भी कोई केस कमजोर करने के लिए पुलिस की जरुरत होती हे और पुलिस को अपने ऊपर हुए केस को रफे दफे करने के लिए न्यायाधीश की जरुर होती हे तो वो दोनों आपस में गठजोड़ बनके काम करते हे. न्यायाधीश के भाई-भतीजे जब बिल्डर होते हे तब पुलिस उनके गुंडे को मदद भी करती हे.

(१०) गेर-क़ानूनी बंगलादेशी भारत में आ कर गंदी बस्ती में रहते हे और पुलिस वालो को हप्ता देते हे. पुलिस इंस्पेक्टर उसका हिस्सा रख कर बाकि पैसा पुलिस कमिश्नर को दी देता हे. पुलिस कमिश्नर वो कला धन कोई एन.आर.आई को देता हे और वो एन.आर.आई पुलिस कमिश्नर के विदेशी बैंक अकाउंट में पैसा डाल देता हे. फिर पुलिस कमिश्नर अपने विदेशी बैंक अकाउंट से सी.एम (CM) और न्यायाधीश के विदेशी बैंक अकाउंट में उसके हिस्स्से का पैसा दल देता हे | यहा किसी भी लेन-देन में बडे नोट्स की जरुरत नहीं पडती.

अभी मेने ऊपर थोडा सा समजाया की भ्रष्टाचार केसे होता हे और उसमे बड़ी नोट्स की जरुरत नहीं पडती हे. अभी में आपको बताता हू की यह भ्रष्टाचार रोकने का क्या तरीका हे.

(ए) पुलिस में भ्रष्टाचार रोकने का तरीका

(१) प्रजा आधीन पुलिस कमिश्नर (Right to Recall Police Commissioner)

[ Please check page number 187 for Right to Recall Police Commissioner from http://righttorecall.info/301.pdf ]

[ कृपया प्रजा आधीन पुलिस कमिश्नर के लिए पेज नंबर १८७ देखिये इस फाइल में से http://righttorecall.info/301.pdf ]

(२) ज्यूरी सिस्टम इन कोर्ट (ज्यूरी त्रायलस भ्रष्ट पुलिस कमिश्नर के खिलाफ) (Jury Trials against corrupt Police Commissioner)

[ Please check page number 168 for Jury Trials against corrupt Police Commissioner]

[ कृपया ज्यूरी त्रायलस भ्रष्ट पुलिस कमिश्नर के खिलाफ के लिए पेज नंबर १६८ देखिये इस फाइल में से http://righttorecall.info/301.pdf ]

(ब) सी.एम (CM) के भ्रष्टाचार रोकने का तरीका

(१) प्रजा आधीन सी.एम (CM, Chief Minister) (Right to Recall CM)

[ Please check page number 71 for Right to Recall सी.एम (CM)]

[ कृपया प्रजा आधीन सी.एम के लिए पेज नंबर ७१ देखिये इस फाइल में से http://righttorecall.info/301.pdf ]

(२) ज्यूरी सिस्टम इन कोर्ट (ज्यूरी त्रायलस भ्रष्ट सी.एम (CM) के खिलाफ) (Jury Trials against corrupt CM)

[ Please check page number 168 for Jury Trials against corrupt सी.एम (CM) ]

[ कृपया ज्यूरी त्रायलस भ्रष्ट सी.एम (CM) के खिलाफ के लिए पेज नंबर १६८ देखिये इस फाइल में से http://righttorecall.info/301.pdf ]

(क) कोर्ट या न्यायाधीश का भ्रष्टाचार रोकने का तरीका

(१) प्रजा आधीन न्यायाधीश (Right to Recall Supreme Court, High Court Judges)

[ Please check page number 84 for Right to Recall corrupt Judges]

[ कृपया प्रजा आधीन न्यायाधीश के लिए पेज नंबर ८४ देखिये इस फाइल में से http://righttorecall.info/301.pdf ]

(२) ज्यूरी सिस्टम इन कोर्ट (ज्यूरी त्रायलस भ्रष्ट न्यायाधीश के खिलाफ)

[ Please check page number 168 for Jury Trials against corrupt Judges]

[ कृपया ज्यूरी त्रायलस भ्रष्ट न्यायाधीश के खिलाफ के लिए पेज नंबर १६८ देखिये इस फाइल में से http://righttorecall.info/301.pdf ]


Top
 Profile  
 
Display posts from previous:  Sort by  
Post new topic Reply to topic  [ 1 post ] 

All times are UTC + 5:30 hours


Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 1 guest


You cannot post new topics in this forum
You cannot reply to topics in this forum
You cannot edit your posts in this forum
You cannot delete your posts in this forum
You cannot post attachments in this forum

Search for:
Jump to:  
cron
Powered by phpBB® Forum Software © phpBB Group